Sorry, you need to enable JavaScript to visit this website.

बाह्य सहायता प्राप्‍त परियोजनाएं/अंतर्राष्‍ट्रीय सहयोग (ईएपीआईसी)

You are here

एशियन प्रौद्योगिकी संस्‍थान (एआईटी), बैंकॉक

सीटो सदस्‍य देशों की उच्‍च तकनीकी शिक्षा की जरूरत पूरा करने के लिए एशियन प्रौद्योगिकी संस्‍थान (एआईटी) की स्‍थापना, सीटो ग्रेजुएट स्‍कूल ऑफ इजीनियरिंग के रूप में सन् 1959 में की गई। सन् 1967 में सीटो ने इसका नियंत्रण छोड़ दिया और संस्‍थान का पुन: नाम एशियन प्रौद्योगिकी संस्‍थान रखा गया। इसके तत्‍काल बाद यह एक स्‍वायत्‍तशासी संस्‍थान बन गया जिसका प्रबंधन अंतर्राष्‍ट्रीय न्‍यासी बोर्ड को सौंपा गया।

एआईटी बैंकॉक इंजीनियरिंग विज्ञान और समबद्ध विषयों में एक अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍नातकोत्‍ततर संस्‍थान है। एआईटी शैक्षणिक वर्ष की जनवरी और अगस्‍त से शुरू होने वाली दो अवधियां होती है। भारत सरकार एआईटी को विशिष्‍टता के चुने हुए क्षेत्रों में 16 सप्‍ताह की अवधि के लिए भारतीय संकाय के सैकेण्‍डमेंट के रूप में सहायता प्रदान करती है और हर साल सैकेण्‍डेड संकाय को 33.00 लाख रूपए की प्रतिपूर्ति करती है। इसके अतिरिक्‍त भारत सरकार एआईटी को भारतीय उपस्‍कर, पुस्‍तकों और पत्रिकाओं की खरीद के लिए हर वर्ष तीन लाख रूपए की निधि भी प्रदान करती है।

अधिक ब्‍यौरे के लिए यहां क्लिक करें: www.ait.ac.th