तकनीकी समर्थित शिक्षण

You are here

आईसीटी के माध्‍यम से राष्‍ट्रीय शिक्षा मिशन

आईसीटी के माध्‍यम से राष्‍ट्रीय शिक्षा मिशन (एलएमईआईसीटी) की परिकल्‍पना उच्‍चतर शिक्षा संस्‍थाओं में सभी शिक्षुओं के लाभार्थ कहीं भी किसी भी पद्धति में अध्‍यापन और शिक्षण प्रक्रिया में आईसीटी की क्षमता का लाभ उठाने के लिए केन्‍द्रीय प्रायोजित योजना के रूप में की गई है। यह उम्‍मीद की जा रही थी कि यह पंचवर्षीय योजना के दौरान सकल नामांकन दा (जीईआर) में 05 प्रतिशत की वृद्धि करने में एक प्रमुख अन्‍त:क्षेप होगा।

  • संस्‍थाओं और शिक्षुओं को डिवाइस एक्‍सेस करने के प्रावधान के साथ कनेक्टिविटी उपलब्‍ध कराना
  • कंटेंट निर्माण

यह डिजिटल विभाजन अर्थात् उच्‍च शिक्षा क्षेत्र में शहरी और ग्रामीण अध्‍यापकों/शिक्षुओं के बीच अध्‍यापन और शिक्षण के प्रयोजन के लिए कम्‍प्‍यूटिंग डिवाइस के प्रयोग कौशल अन्‍तर को भरता है और उनको सशक्‍त करता है जो डिजिटल क्रांति से अभी तक अछूते रहे हैं और ज्ञान शास्‍त्र की मुख्‍यधारा से नहीं जुड़ पाए हैं। इसकी योजना ई-लर्निंग के लिए समुचित शिक्षण-शास्‍त्र पर ध्‍यान देना, आभासी प्रयोगशालाओं के माध्‍यम से प्रयोग करने की सुविधा देना ऑनलाइन परीक्षण और सत्‍यापन, शिक्षुओं के मार्गदर्शन हेतु ऑनलाइन शिक्षकों की उपलब्‍धता, उपलब्‍ध शिक्षा उपग्रह (एज्‍यूसेट) और डायरेक्‍ट टू होम का उपयोग, अध्‍यापन शिक्षक की नई प्रणाली के प्रभावी प्रयोग के लिए अध्‍यापकों को प्रशिक्षण और सशक्‍त बनाना।

अधिक जानकारी के लिए कृपयाwww.nmeict.ac.inपर क्लिक करें