माध्‍यमिक शिक्षा

You are here

माध्‍यमिक शिक्षा के लिए बालिकाओं को प्रोत्‍साहन

माध्‍यमिक स्‍तर पर 14 से 18 वर्ष की आयु समूह की बालिकाओं, विशेष रूप से जिन्‍होंने कक्षा-।।। उत्‍तीर्ण कर ली है, के नामांकन में वृद्धि करने और ऐसी बालिकाओं को माध्‍यमिक शिक्षा के लिए प्रोत्‍साहित करने के लिए केन्‍द्र द्वारा प्रायोजित योजना राष्‍ट्रीय बालिका माध्‍यमिक शिक्षा की प्रोत्‍साहन योजना मई, 2008 में में शुरू की गई थी।

इस योजना में निम्‍नलिखित शामिल हैं:

  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति की वे सभी बालिकाएं, जिन्‍होंने कक्षा-।।। परीक्षा उत्‍तीर्ण कर ली है और;
  • वे बालिकाएं, जिन्‍होंने कस्‍तूरबा गांधी बालिका विद्यालय से कक्षा-।।। परीक्षा उत्‍तीर्ण कर ली है (ये अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति से संबद्ध हों अथवा नहीं) और उन्‍होंने राज्‍य/संघ राज्‍य क्षेत्र के सरकारी, सरकारी द्वारा सहायता प्राप्‍त या स्‍थानीय निकाय के स्‍कूल की कक्षा IX के लिए शैक्षिक वर्ष 2008-09 से अपना नामांकन कराया है।
  • कक्षा-X में प्रवेश लेते समय (31 मार्च की स्थिति के अनुसार) बालिकाओं की आयु 16 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • विवाहित बालिकाएं, निजी गैर सहायता प्राप्‍त स्‍कूलों और केन्‍द्र सरकार द्वारा संचालित स्‍कूलों में नामांकन कराने वाली बालिकाएं इस योजना में शामिल नहीं हैं।

पात्र बालिकाओं के नाम से 3000/- रूपए नियत राशि के रूप में जमा कर दिए जाते हैं। बालिकाएं 18 वर्ष की आयु पूर्ण होने और कक्षा X की परीक्षा उत्‍तीर्ण होने पर अर्जित ब्‍याज सहित यह राशि निकाल सकती हैं।

अधिक ब्‍यौरे के लिए यहां क्लिक करें: योजना की प्रतिलिपि